शिवपुरी. नगरपालिका के अंतर्गत आने वाला वार्ड 35 में जातिगत आंकड़े चुनाव परिणाम का निर्णय करते हैं। इसमें यूं तो खटीक, बाथम, शाक्य व मुस्लिम समाज के लोग अधिक निवास करते हैं, लेकिन पार्टी वोट बैंक का असर भी अधिक रहता है। हालांकि सत्ताधारी दल का पार्षद यदि अपने कार्यकाल में मूलभूत सुविधाएं मुहैया नहीं करा पाता, तो भले ही मतदाता विरोध स्वरूप विपक्षी का सहयोग कर दें, लेकिन वार्ड में भाजपा जिलाध्यक्ष का निवास होने से टिकट का महत्व अधिक है।

वार्ड में 3912 वोटर
नगरपालिका के वार्ड 35 में 3943 वोटर हैं, जिसमें 2065 पुरुष तथा 1878 महिला मतदाता हैं। पहली बार लगभग 4 फीसदी वोटर अपने मत का प्रयोग करेंगे। इनमें से अधिकांश वोटर वार्ड में ही निवास करते हैं, जबकि लगभग 40 वोटर डाक मतपत्र से वोट करते हैं।

बाथम, खटीक व मुस्लिम वोटर अधिक
इस वार्ड में यूं तो सभी जाति के लोग निवास करते हैं, लेकिन इसमें बाथम, खटीक व मुस्लिम वोटर अधिक होने से यही वर्ग डिसाइडर होते हैं। इसके अलावा वार्ड में शाक्य समाज के वोटर भी अधिक संख्या में हैं। यह सभी वर्ग घनी आबादी में निवास करते हैं, जहां समस्या हैं।

पिछले चुनाव में 6 प्रत्याशी थे मैदान में
शहर के फिजीकल एरिया में स्थित इस वार्ड से पार्षद बनने के लिए पिछली बार 6 प्रत्याशियों ने अपनी दावेदारी पेश की थी। जिसमें भाजपा समर्थित किरण नीरज खटीक ने 305 वोट से कांग्रेस की प्रत्याशी को शिकस्त देकर चुनाव जीता था।

70 फीसदी हुआ था मतदान
वार्ड में रहने वाले रहवासियों को मतदान के प्रति रुझान उतना अधिक नहीं है। पिछले चुनाव में 70 फीसदी मतदान हुआ था, और वो भी तब इतना पहुंच पाया, जब पार्षद प्रत्याशियों ने अपने साधन से उन्हें मतदान केंद्र तक पहुंचाया। वोङ्क्षटग न करने वाले ही सबसे अधिक चिल्लाते हैं।

तलैया व कच्ची सडक़ वार्ड की सबसे बड़ी समस्या
नगरपालिका के अंतर्गत आने वाला वार्ड 35 में यूं तो अधिकांश हिस्सा साफ-सुथरा है, लेकिन वार्ड में शामिल संजय कॉलोनी में स्थिति अच्छी नहीं है। इस कॉलोनी में स्थित तलैया जब बरसात में भरती है तो उसके आसपास रहने वाले परिवारों की नींद उड़ जाती है, क्योंकि गंदा पानी उनके घरों तक में भर जाता है। वहीं कॉलोनी की अधिकांश सडक़ें कच्ची होने से परेशानी अधिक है, क्योंकि बरसात में यह सभी रास्ते कीचड़-दलदल में तब्दील हो जाते हैंं।यहां प्रत्याशी के साथ-साथ पार्टी वोट बैंक भी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है तथा भाजपा जिलाध्यक्ष भी इसी वार्ड में निवास करते हैं।

पूर्व पार्षद ने यह बताए कारण
इस वार्ड से पार्षद रहीं किरण नीरज खटीक ने बताया कि हमने वार्ड में पानी की सुविधा तो उपलब्ध कराई, लेकिन सीवर प्रोजेक्ट के फेर में सडक़ नहीं बनवा सके। तलैया की समस्या तो बरसों पुरानी है, जिसका कोई स्थाई निराकरण समझ नहीं आ रहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here