शिवपुरी।नरवर क्षेत्र के कई गांवों से तमाम समस्याओं को लेकर शिवपुरी पहुंचे करीब सैंकड़ा भर से अधिक आदिवासियों ने मंगलवार करीब तीन घंटे तक कलेक्टेट के गेट पर अघोषित रूप से धरना दिया। धरने के साथ उन्होंने चक्काजाम भी कर दिया। इस कारण शहर के तमाम लोगो को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। उक्त भीड़ का कहना था कि उन्हें प्रशासन द्वारा परेशान किया जा रहा है और करैरा एसडीएम द्वारा उनकी कोई सुनवाई नहीं की जाती है। ग्रामीण एसडीएम को हटाने की मांग कर रहे थे। भीड़ तीन घंटे तक कलेक्टर से मिलने की बात कहती रही और उन्होंने दो टूक शब्दों में कह दिया कि जब तक उनकी मुलाकात कलेक्टर से नहीं होगी वह यहां से नहीं जाएंगे। अंततः कलेक्टर अक्षय कुमार सिंह उनसे मिलने के लिए बाहर आए और भीड से उनकी समस्याओं के संबंध में जाना, लेकिन भीड मे शामिल लोग अपनी समस्याएं क्रमबद्ध तरीके से नहीं बता पाए। भीड़ में शामिल हर महिला अपनी-अपनी समस्या लेकर चिखती चिल्लाती नजर आई, ऐसे में भीड़ को बैरंग ही लौटना पड़ा।

जो युवक लेकर आए, उन्हें ही सुनाई खरी-खोटी- कलेक्टेट के सामने लगी भीड़ व चक्काजाम की जानकारी जब पुलिस को लगी तो देहात टीआई विकास यादव, यातायात पुलिस मौके पर पहुंच गई और जाम खुलवाने का प्रयास किया। पुलिस ने उन युवाओं से बात की जो इस भीड़ को लीड कर रहे थे। बातचीत के बाद जकों ने महिलाओं को सड़क पर से हटने को कहा तो, महिलाएं उल्टा उन युवकों पर ही चढ़ बैठीं जो उन्हें लेकर आए थे। महिलाओं ने उन्हें खूब खरी-खोटी सुनाईं कि एक तो अंधेरे से ही मजदूरी छुड़वा कर यहां ले आए ऊपर से अब हटने को कह रहे हो। महिलाओं ने सड़क नहीं छोड़ा जिसके कारण आमजन को परेशानी का सामना करना पड़ा और राहगीरों को अपने वाहन लौटा कर रास्ता बदलना पड़ा।

Advertisement 1

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here